मुख पृष्ठ Startup India स्टार्टअप इंडिया पहल I

स्टार्टअप इंडिया पहल I

स्टार्टअप इंडिया पहल की घोषणा 15 अगस्त, 2015 को भारत के माननीय प्रधान मंत्री द्वारा की गई थी। इस प्रमुख पहल का उद्देश्य देश में नवाचार और स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए एक मजबूत इकोसिस्टम का निर्माण करना है जो सतत आर्थिक विकास को बढ़ावा देगा और बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर उत्पन्न करेगा। इसके अलावा, 16 जनवरी, 2016 को भारत के प्रधान मंत्री द्वारा स्टार्टअप इंडिया के लिए एक कार्य योजना का शुभारंभ किया गया था। इस कार्य योजना में “सरलीकरण और हैंडहोल्डिंग”, “निधियन सहायता और प्रोत्साहन” और “उद्योग शैक्षणिक भागीदारी और इन्क्युवेशन” जैसे क्षेत्रों में फैले 19 कार्य मदें शामिल हैं।

भारत सरकार ने स्टार्टअप इंडिया पहल के विजन को वास्तव में साकार करने की दिशा में तेजी से प्रयास किए हैं। स्टार्टअप इंडिया पहल के अंतर्गत पर्याप्त प्रगति की गई है, जिसने पूरे देश में उद्यमशीलता की भावना को जगाया है। उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (डीपीआईआईटी) का अन्य सरकारी विभागों के साथ स्टार्टअप इंडिया पहल के कार्यान्वयन का समन्वय अनिवार्य है।

डीपीआईआईटी के अतिरिक्त, स्टार्टअप इंडिया पहल के तहत पहलें मुख्य रूप से पांच सरकारी विभागों अर्थात विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी), जैव-प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी), मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी), श्रम एवं रोजगार मंत्रालय तथा कॉर्पोरेट कार्य मंत्रालय (एमसीए) और नीति आयोग संचालित होते हैं।

  • अधिसूचना - स्टार्टअप इंडिया सीड फंड स्कीम (एसआईएसएफएस) (1.05 MB)
  • स्टार्टअप इंडिया सीड फंड योजना के लिए दिशानिर्देश (340.13 KB)